नन्हे बच्चों को गर्मियों में होने वाले लाल दानो ( पित ,रैशेज़ ,गमोरिया ) को घर बैठे घरेलु नुस्खों से कैसे ठीक करे ???

gharelu_nukshe _baby_skin_rashes




गर्मियों या बरसातों के मौसम में अक्सर नन्हे बच्चो को और एक साल से ज्यादा बच्चो को शरीर पैर लाल या गुलाबी रंग के छोटे छोटे दाने निकल आते है।  जो अक्सर बच्चो के गर्दन , बाजु , मुँह ,सिर ,पेट और छाती पर निकल आते है। तो ऐसे में अकसर माताएं घबऱा जाती है। कि इसे कैसे ठीक किया जाये। तो हम आपको इन लाल दानो ( पित ,रैशेज़ ,गमोरिया ) की समस्या का समाधान बताते है कि इसे आप घर बैठे आसानी से कैसे आयुर्वेदिक तरीको से ठीक कर सकती है।  वो भी काम समय में ... 


नन्हे बच्चो को शरीर पर लाल दाने क्यों होते है ????


सबसे पहले आपको यह जानना जरुरी है कि नन्हे बच्चो को लाल दाने क्यों होते है? जायदातर मामलो में देखा गया है कि बच्चो को शरीर की गर्मी या पसीना आने से भी लाल दाने निकल आते है या फिर माताएं कभी कभी बच्चो के खाने पीने पैर ध्यान नहीं दे पाती।  या फिर ऐसी माताएं जिनका दूध उनका बच्चा पीता हो। वो खुद कुछ ऐसे पर्दाथों का सेवन कर लेती है। जिसे बच्चे को उनका दूध गर्म लगता है।  और बच्चे के अंदर गर्मी होने से बच्चे के शरीर पर लाल दाने निकल आते है। ऐसे और भी कारण है जैसे...


< गाये ( cow ) का दूध पिलाने से  >


जायदातर बच्चे 4 से 8 महीने की उम्र में ही माँ का दूध पीना छोड़ देते है।  या फिर माँ का दूध पूरा ना होने के कारण माताएं भी अपने नवजात शिशुओं को बोतल से दूध पिलाना शुरू कर देती है। जिसमे गाये का अकेला दूध बच्चो एवं शिशुओं को दे देती है। गाये का दूध बच्चो को गर्म लगता है। जिसके कारण शिशुओं के शरीर पर गर्मी के कारण लाल दाने निकल आते है।  

क्या करे ????


जब भी आप शिशुओं को गाये का दूध दे। उसमे थोड़ा पानी और भैंस का दूध और छोटी इलायची , मीठी सौंफ और 5 से 6 दाने अजबयान के  डाल कर उबाल ले। उसके बाद शिशु को वह दूध पिलाये। कभी भी यह दूध बच्चे को खराब नहीं लगेगा। और बच्चा जल्दी यह दूध पचा भी लेगा।  


बच्चो को बहुत ज्यादा पसीना आना ...


अक्सर देखा गया है। शिशुओं को गर्मी और बरसात के मौसम में बहुत ही ज्यादा पसीना आता है।  जिससे उनको स्किन इंफेक्शन  हो जाता है। और शरीर पर लाल दाने निकल आते है। 

क्या करे ????


जब भी नन्हे बच्चो को ज्यादा मात्रा में पसीना आए। तो उन्हें रोज़ नहलाये। और दिन में 2 बार कपडे बदले।  ताकि नन्हे बच्चे को स्किन इंफेक्शन ना हो। और नहलाने के बाद अच्छी कोयलिटी का बेबी पाउडर लगा दे।  जिसे बच्चे की स्किन सुखी रहेगी। और पसीना कम आएगा। 

माताओं का गलत खान पान ...


जिन माताओं का बच्चा उनका दूध पीता है। उन माताओं को अपने खाने पीने का ध्यान रखना चाहिए। जैसे महिलाएं जायदा तली हुई चीज़े , आम फल का जायदा सेवन और भी कुछ ऐसी खाद्य सामग्री होती है। जो बच्चो के लिए ठीक नहीं होती। जब बेबी अपनी माँ की फीड लेता है, तो वह माँ का दूध पचा नहीं पाता।  जिसे उसके पेट में गर्मी हो जाती है। और  शरीर पर लाल दाने निकल आते है।  

क्या करे ????


जहां तक हो सके।  माताओं को तब तक सिम्पल और पौष्टिक खाना खाना चाहिए। जब तक उनका बच्चा व्रेस्ट फीड ले रहा हो। आपकी एक लापरवाही आपके नन्हे बच्चे के लिए मुसीबत बन सकती है। अगर आपका बच्चा 6 महीने से ऊपर हो गया है।  ऐसे में आप थोड़ा सा अपनी पसंद का खा सकती है। लेकिन कभी कभार।  



बेबी प्रोडक्ट बच्चो को सूट ना करना .....


लाल दाने निकलने का 1 कारण यह भी है कि हम जो अपने बच्चो को बेबी प्रोडक्ट लगा रहे होते है। जैसे कि बेबी साबुन , बेबी शैम्पू , बेबी बाथ , बेबी लोशन , बेबी क्रीम, बेबी पाउडर इत्यादि। वह भी बच्चे की स्किन को सूट नहीं हर रहे होते है।  जिसकी वजह से बच्चो को स्किन इंफेक्शन हो जाती है। और लाल दाने निकल आते है। 

क्या करे????


जब भी बच्चे को लाल दाने निकले। तो एक बार बेबी प्रोडक्ट लगाना बंद कर दे। अगर बच्चे को बेबी प्रोडक्ट सूट ना कर रहे हो।  वह आपको शुरुआती दिनों में पता चल जायेगा। जब आप बच्चे को बेबी प्रोडक्ट लगाना शुरू करते हो।  

बच्चे को लाल दाने की समस्या से छुटकारा दिलाने के घरेलु उपाए ..


  • 1 कटोरी ले।  उसमे 2 चम्मच मुल्तानी को डाल लीजिये। उसमे कच्चा दूध डाल कर पेस्ट तैयार कर ले।  और उस पेस्ट को शिशु के शरीर पर लगाए। यहाँ लाल दाने निकले है। और सूखने के बाद बच्चे को नहला दे। 1 हफ्ता लगातार लगाए।  लाल दानो ( पित ) से छुटकारा मिल जायेगा।  

  •  घर की एलोवीरा तो तोड़ ले। और उसके जैल को निकल ले। अब मिक्सी में उसे ग्राइंड कर ले। और थोड़ा सा पानी मिला कर फ्रीज़र में रख दे। जब आइस क्यूब बन जाये।  तो उसे हलके हाथो से शिशु के लाल दानो पर लगाए। जल्द ही लाल दाने शरीर से चले जायेगे।  

  •  ताज़े गुलाब के फूलो की पखुडियो को पीस ले। उसमे कच्चा दूध मिला कर गाढ़ा मिश्रण तैयार कर ले। और उस मिश्रण को बच्चे के पूरे शरीर पर लगाए।  लाल दानो से जल्द ही छुटकारा मिलेगा। 


अगर आप ऊपर दिए हुए उपायों और सावधानियों को बरत लेती है तो लाल दाने बच्चे को बहुत ही काम होंगे। लेकिन हमारी छोटी छोटी गलतिया और लपरवाहिया ही बच्चो के लिए मुसीबत बन जाती है। 
क्योकि बच्चो की स्किन बहुत ही कोमल नाज़ुक होती है। उन्हें स्किन इन्फेक्शन भी जल्दी हो जाता है। जिसे लाल दाने ,रैशेज़  जैसी समस्या उत्पन हो जाती है।  तो जितना हो सके।  बच्चो का ध्यान रखे। खासकर नवजात शिशुओं का !!!



अगर पोस्ट पसंद आयी हो तो। अपने साथियो के साथ व्हाट्सप्प या फेसबुक ,इंस्टाग्राम पर शेयर जरूर करे। क्योकि आपके दुबारा शेयर की हुई जानकारी किसी के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकती है।  








Post a Comment

और नया पुराने